खूशखबर! EPS 95 पेंशन पर EPFO ने लिए बड़े फैसले; ईपीएफओ ने भी चलाया अभियान

Uncategorized

कहा जाता है कि सरकारी नौकरी मिलने पर बुढ़ापा यानि सेवानिवृत्ति के बाद की चिंता दूर हो जाती है। लेकिन निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति के बाद भीख मांगनी पड़ती है। ईपीएफओ उन्हें पेंशन दिलाने की कोशिश कर रहा है, चाहे कुछ भी हो जाए। अब EPFO ​​ने इस दिशा में फैसला लिया है। 

निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए सेवानिवृत्ति पेंशन अब सरकारी कर्मचारियों के समान होगी। ईपीएफओ ने इसका पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया है। शुक्रवार को लुधियाना में प्रोजेक्ट विश्वास का शुभारंभ किया गया।

अगर कोई कर्मचारी रिटायर होने वाला है तो ईपीएफओ की टीम कर्मचारी की कागजी कार्रवाई दो महीने पहले ही पूरी कर लेगी। नतीजतन, उन्हें सेवानिवृत्ति के समय पेंशन प्रमाण पत्र दिया जाएगा। अप्रैल माह में सेवानिवृत्त होने वाले 54 प्रतिष्ठानों के 91 कर्मचारियों को शुक्रवार को पेंशन प्रमाण पत्र जारी किया गया। इनमें से सात ने आस्थगित पेंशन का विकल्प चुना है, जबकि 84 ने पेंशन का विकल्प चुना है। अगर यह प्रयास सफल रहा तो इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा।

अतिरिक्त केंद्रीय आयुक्त (ACC) कुमार रोहित ने कहा कि प्रतिष्ठानों को सेवानिवृत्ति के महीने के लिए अग्रिम रूप से भविष्य निधि (PF) का भुगतान करना होगा। आवश्यक दस्तावेजों के साथ पेंशन दावों को पीएफ कार्यालय में जमा करना होगा। महीने की 15 तारीख से पहले सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को ईसीआर (इलेक्ट्रॉनिक करेंसी कम रिटर्न) का भुगतान करना होगा।

ईपीएफओ में यह पहली बार है जब सेवानिवृत्ति के महीने के बाद से इस तरह से पेंशन की शुरुआत की गई है। इसलिए व्यवहारिक दिक्कतों को समझने के लिए लुधियाना में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। इसके बाद इसे अन्य जगहों पर शुरू किया जाएगा।

 


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *