तुनिषा शर्मा सुसाइड केस: शीजान खान ने कहा, अगर मैं मुस्लिम नहीं होता तो ये सब कुछ नहीं होता

Entertainment

तुनिषा शर्मा केस पर शीजान खान: टीवी शो ‘अली बाबा: दास्तान ए-काबुल’ की लीड एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा (तुनिषा शर्मा) के सुसाइड के मामले लगातार जारी हैं। इस मामले में विकलांग अभिनेत्री के अभिनेता और एक्स बॉयफ्रेंड शीजान खान (शीजान खान) पर गंभीर आरोप हैं। हाल में 13 जनवरी को कोर्ट ने शीजान खान की याचिका को खारिज कर दिया। इस बीच शीजान खान के वकील ने अभिनेता के बचाव में धर्म का कोण जोड़ दिया।

वकील ने कई सवाल पूछे
शीजान खान ने अपने वकील शैलेंद्र मिश्रा (वकील शैलेंद्र मिश्रा) की ओर से अब दावा किया है कि अभिनेता को केवल उनके धर्म के कारण गिरफ्तार किया गया था। शीजान के वकील शैलेंद्र मिश्रा ने पालघर में कोर्ट तुनिषा शर्मा पर कई संगीन आरोप लगाए हैं। वे अभिनेता को फँसने की बात कहते हुए मामले में सफाई पेश की है।

शीजान के वकील ने दावा किया है कि, तुनिषा तौर पर एक डेटिंग वेबसाइट के माध्यम से अली नाम के एक व्यक्ति के संपर्क में थी और 21 से 23 दिसंबर के बीच अली के साथ थे। मिश्रा ने अपने मुवक्किल की ओर से कहा, “आखिरी 15 मिनट में उसने वीडियो कॉल पर अली से बात की। इसलिए (शीजान) नहीं बल्कि अली संपर्क में था।”

तुनिषा ने इस एक्टर को सुसाइड की प्लानिंग बताई थी
वकील ने यह भी दावा किया कि तुनिषा ने अपने को-एक्टर पार्थ के साथ अपने सुसाइड की प्लानिंग शेयर की थी और उन्हें (पार्थ) को रस्सी दिखाई दे रही थी जिससे वह खुद को मारने वाले थे। तब शीजान ने जब तुनिषा की बातें सुनीं तो एक्ट्रेस के परिवार से उनकी (तुनिषा की) देखभाल करने का कहा था।”

समाचार रीलों

मैं उर्दू नहीं जानता उसे क्या सिखाउंगा
शीज़ान के वकील ने यह भी दावा किया कि ब्रेकअप के बाद भी शीजान और तुनिषा के बीच अच्छे संबंध बने रहे और दोनों लगातार साथ में शूंटिंग करते रहे। शीजान की ओर से वकील ने कहा, “एक आरोप यह है कि मैं उसे उर्दू बोलने के लिए मजबूर कर रहा था, जबकि मैं खुद उर्दू नहीं जानता। मैं निर्देशक की मांग के अनुसार अपनी पंक्तियों को सीखता हूं। मेरी बहन भी उर्दू नहीं हूं।” स्पष्ट हैं।”

मुस्लिम होने की वजह से गिरफ्तार किया गया
साथ ही तुनिषा की हिजाब वाली तस्वीरें भी शो और शूटिंग का हिस्सा थे। एक्ट्रेस ने अपने रोल मरियम के लिए ये गेटअप किया था। शीजान ने कहा, “मुझे केवल मेरे धर्म के कारण गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने इसे लव जिहाद का एंगल बना दिया है। वे मुझसे सीधे दो दिन पूछताछ कर सकते हैं, और सच्चाई सामने आ जाएगी। मुझे गिरफ्तार करने का कोई कारण नहीं था। अगर मैं मुस्लिम नहीं होता, तो ऐसा नहीं होता।”

मिश्रा ने पालघर को अदालत में यह भी बताया कि एक आपराधिक धारा भड़की है, हालांकि शीजान के खिलाफ कोई सबूत नहीं है। उन्होंने कहा, “पहले यह तय करना चाहिए कि यह आत्महत्या है या कुछ और। मैंने इस मामले में सभी तथ्यों को अदालत के सामने रखा है। अदालत के फैसले।”

यह भी पढ़ें- तारक मेहता के सामने के चश्मे में हुई है इस पुराने रहस्य की एंट्री! क्या मरी बेन भी वापस आएगी?

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *