देश के 67 लाख EPS 95 पेंशनधारकों को मिलेगा 5 लाख रुपए तक फ्री मेडिकल इलाज का लाभ

Uncategorized

केंद्र सरकार देश के हर नागरिक को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ने की तैयारी कर रही है। इस योजना के तहत देश के हर नागरिक का 5 लाख तक का इलाज बिलकुल मुफ्त हो सकेगा। अभी तक आय सीमा के चलते योजना का लाभ कई लोगों को नहीं मिल पा रहा था, अब इस पर आय सीमा का बंधन खत्म होने जा रहा है। 135 करोड़ नागरिकों को हेल्थ कवर का लाभ देने वाला विश्व का एकमात्र देश भारत बन जाएगा।

देश के 95 करोड़ लोग अभी हेल्थ कवर का लाभ ले रहें हैं। वर्तमान आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat yojana) के लिए सरकार प्रति परिवार की ओर से करीबन 1052 रूपए का सालाना हेल्थ प्रीमियम दे रही है। अभी 40 करोड़ नए नागरिकों को आयुष्मान योजना के तहत जोड़ा जाएगा, जिन्हे निजी वार्डों में भी मुफ्त इलाज की सुविधा होगी। निजी बीमा में 5 लाख का कवर का सालाना प्रीमियम 7 हजार रूपए से अधिक का आता है।

40 करोड़ नए नागरिक आयुष्मान भारत योजना में शामिल होंगे: अभी 69 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana) में जोड़ा जा चुका है। अब 40 करोड़ नए नागरिक इसमें शामिल होंगे। यानी कुल 109 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना में जोड़ा जाएगा। इसके अलावा 26 करोड़ लोग पहले से ही अलग अलग स्वास्थ्य बीमाओं में रजिस्टर्ड हैं। इस तरह से 135 करोड़ लोगों को हेल्थ कवर देने के मामले में भारत विश्व का एकमात्र देश बन जाएगा। इसमें सबसे अहम पहलू यह होगा कि आय सीमा के चलते अब तक जिन लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा था अब उन्हें भी इसमें शामिल किया जा सकेगा।

NHA ने नीति आयोग के सहयोग से तैयार किया रोडमैप नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (National Health Authority) ने नीति आयोग के सहयोग से इस योजना का रोडमैप तैयार किया है। योजना का लाभ उठाने के लिए हर व्यक्ति को 250 रु। से 300 रु। तक का सालाना प्रीमियम देना होगा। सरकार का मानना है कि एक परिवार में औसतन 5 सदस्य हैं। इस हिसाब से एक परिवार का सालाना प्रीमियम 1200 से 1500 रुपए तक होगा। इसमें हर व्यक्ति को 5 लाख रु। तक का मुफ्त इलाज मिलेगा। अभी किसी भी निजी बीमा कंपनी से मिलने वाले 5 लाख रु। तक के हेल्थ इंश्योरेंस का सालाना प्रीमियम 7 से 15 हजार रु। तक होता है। इस लिहाज से नई योजना दुनिया की सबसे सस्ती योजना भी होगी।

हेल्थ बीमा की नई योजना इसलिए आकर्षक होगी, क्योंकि इसमें प्राइवेट वार्ड में इलाज कराने की भी सुविधा शामिल होगी, जो मौजूदा आयुष्मान भारत योजना में नहीं है। इसमें बीमा के समय या उससे पहले की सभी तरह की बीमारियों को कवर किया जाएगा। योजना की घोषणा अगले कुछ महीनों में हो सकती है।

वे सभी पात्र, जो अभी किसी हेल्थ बीमा योजना में शामिल नहीं हैं: सूत्रों के अनुसार हर वो व्यक्ति, जो अभी किसी भी हेल्थ बीमा योजना में शामिल नहीं है, नई आयुष्मान योजना में शामिल होने के लिए पात्र होगा। देश की करीब 70% आबादी किसी न किसी तरह की हेल्थ इंश्योरेंस से कवर है। बची हुई 30% आबादी को नई आयुष्मान योजना में शामिल करने की तैयारी है। इसमें कृषि कार्य से जुड़े लोग, निजी काम करने वाले, दैनिक वेतनभोगी, सेल्फ हेल्प ग्रुप ओला-ऊबर जैसी कैब कंपनियों के कर्मी, जोमैटो, ई-कॉमर्स, ट्रक ड्राइवर एसोसिएशन, फूड बिजनेस ऑपरेटर आदि सभी तरह की कंपनियों में काम करने वाले जुड़ सकेंगे। इस संबंध में एनएचए के अधिकारियों की बीमा कंपनियों के साथ बैठक हो चुकी है।

एनएचए के एक अफसर ने बताया कि नई योजना के तहत पीएम जय से पंजीकृत सभी अस्पतालों में मुफ्त इलाज हो सकेगा। मरीजों को पोर्टेबिलिटी सुविधा भी मिलेगी। यानी किसी भी राज्य का व्यक्ति अन्य राज्य में जाकर भी इलाज करा सकेगा।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *