73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर कर्मचारियों की पेंशन योजना में राज्य सरकार ने अपना अंशदान बढ़ाया

0 0
Read Time:2 Minute, 53 Second

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं। सीएम ने अंशदायी पेंशन योजना में राज्य सरकार का अंशदान 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 14 प्रतिशत करने की घोषणा की है। इससे कर्मचारियों को पेंशन में लाभ होगा। नवीन अंशदायी पेंशन स्कीम यानी एनपीएस में राज्य सरकार की हिस्सेदारी 10 फीसदी रहती है। छत्तीसगढ़ पहला ऐसा राज्य बना है जिसने पेंशन में अपना अंशदान 10 से बढ़ा कर 14 प्रतिशत किया है।

एनपीएस में राज्य सरकार के कर्मचारी के मूल वेतन और डीए का 10 फीसदी कटता है और इतनी ही राशि राज्य सरकार भी देती है। हालांकि केंद्रीय कर्मियों के मामले में केंद्र सरकार 14 फीसदी का योगदान करती है। अब छत्तीसगढ़ सरकार भी केंद्र सरकार के बराबर योगदान देगी। इसका सीधा फायदा कर्मचारियों को मिलेगा। रिटायरमेंट के वक्त उनका पेंशन फंड बढ़ जाएगा।

इसके साथ ही सीएम बघेल ने राज्य कर्मचारियों के लिए 5 डे वर्किंग का सिस्टम भी लागू करने की घोषणा की है। जल्द ही इसे अमल में लाने की प्रक्रिया होगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में ध्वजारोहण कर राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी। इसी दौरान जनता को संबोधित करते हुए सीएम बघेल ने कई सौगातों का ऐलान किया।

20 हजार रुपये की सहायता

श्रमिक परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना शुरू की जाएगी, जिसके तहत हितग्राहियों की प्रथम 2 पुत्रियों के बैंक खाते में 20-20 हजार रुपये की राशि का एकमुश्त भुगतान किया जाएगा।

औद्योगिक नीति में संशोधन कर अन्य पिछड़ा वर्ग में उद्यमिता विकास हेतु 10 प्रतिशत भूखंड आरक्षित किए जायेंगे। खरीफ वर्ष 2022-23 से प्रदेश में दलहन फसल जैसे मूंग, उड़द, अरहर इत्यादि की खरीदी भी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी।



 


Source link
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *