EPS 95 पेंशनधारकोंको 10000 पेंशन, महंगाई भत्ता, फ्री मेडिकल, लोकसभा से खुशखबरी

2 0
Read Time:3 Minute, 11 Second

लोकसभा के बजट सत्र 2022 सांसद उन्मेश बैय्यासाहेब पाटिल ने में रिटायर कर्मचारियों को 1000 रुपए से कम पेंशन मिलने का मामला उठाया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के समक्ष उन्होंने कहा कि देशभर में कई रिटायर कर्मचारियों को 1000 रुपए से कम पेंशन मिलता है।

उन्होंने कहा सामाजिक सुरक्षा और सोशल सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए EPF 95 पेंशन लाभार्थियों में अपने परिश्रम से देश के विभिन्न संगठनों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और देश के औद्योगिक और आर्थिक विकास में प्रमुख योगदान दिया है।

देश भर से 65 लाख से ज्यादा  eps-95 पेंशन धारकों को बहुत ही कम पेंशन दी जा रही है। जिससे उनकी आजीविका पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। और वह सभी पेंशनधारक मूलभूत चिकित्सा सुविधाओं से वंचित रह रहे हैं। 2018 में श्रम संसदीय समिति की रिपोर्ट और EPFO की उच्च स्तरीय संबंधित समिति द्वारा सिफारिश की गई है की eps-95 पेंशन योजना के तहत पेंशन की राशि बढ़ाई जानी चाहिए। इसके अलावा सन 2013 भगतसिंग कोशियारी की समिति ने भी eps-95 पेंशन योजना के तहत पेंशन राशि बढ़ाए जाने की सिफारिश की है।


उन्होंने सरकार से मांग कि है की eps-95 योजना के तहत आने वाले पेंशन धारकों को न्यूनतम पेंशन के रूप में ₹10000 प्रति महा दी जाए साथ ही उनको चिकित्सा सुविधाओं का लाभ भी प्रदान किया जाए। साथ ही उन्हें महंगाई भत्ता भी दिया जाए ताकि बढ़ती हुई उम्र में इन सभी पेंशनधारकों को किसी भी समस्याओं से सामना ना करना पड़। और वह एक सामान्य जीवन जी सके साथ ही उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद किसी भी वित्तीय समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

तो उन्होंने सरकार के सामने eps-95 पेंशनधारकों की पेंशन बढ़ोतरी के लिए अपनी मांग के रूप में ₹10000 की मांग रखी है और उनको चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्रदान करने के साथ-साथ महंगाई भत्ता भी देने कि यहां पर लोकसभा के बजट सत्र में सरकार से निवेदन किया है।

वर्तमान पेंशन में 1000 रुपए प्रति माह मिलना उचित नहीं है। उन्होंने महंगाई पर भी इशारा करते हुए कहा कि अब इस राशि को बढ़ा देना चाहिए। ताकि पेंशन भोगियों को थोड़ी राहत मिल पाए।

IMAGE



Source link
Happy
Happy
33 %
Sad
Sad
33 %
Excited
Excited
33 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.