EPS 95 पेंशनर्स के उच्च पेंशन के मामलों की सुनवाई के लिए नई 3 जजों की बेंच का हुआ गठन 2 अगस्त 2022 को इन तीन जजों के सामने होगी सुनवाई

0 0
Read Time:6 Minute, 1 Second

NEXT EPS 95 HIGHER PENSION CASES HEARING

देश के लाखों EPS 95 पेंशनर्स लिए यह बहुत जरूरी सूचना है। EPF Pension को लेकर 2 अगस्त 2022 को सुप्रीम कोर्ट से EPS 95 पेंशनधारकों के उच्च पेंशन मामलों पर सुनवाई हो सकती है। इस संबंध में ताजा खबर यह है कि EPS 95 के पेंशनधारकों को भविष्य निधि (EPF) पेंशन कितनी मिलेगी, यह जानने के लिए EPS 95 पेंशनर्स  को अब 2 अगस्त को इंतजार ख़तम हो सकता है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट की दो सदस्यीय पीठ ने 24 अगस्त 2021 मंगलवार को इससे जुड़े मामले को 3 जजों की बड़ी पीठ के पास भेज दिया था। उसके बाद 25 अक्टूबर और 15 दिसंबर 2021 को सुनवाई होगी ऐसा उपडेट था पर कोई सुनवाई नहीं हुई थी। हल ही में 12 जुलाई 2022 को इन मामलों पर सुनवाई हुई थी और सुनवाई के बाद मा. जस्टिस यू. यू. ललित की पीठ ने इन मामलों को 15 जुलाई तक टाल दिया था। बाद में 15 जुलाई को सुनवाई नहीं हुई थी और बयाया गया था की माननीय मुख्य न्यायाधीश द्वारा नई 3 जजों की बेंच का गठन किया जायेगा और 2 अगस्त से अगले 3 दिन तक इन मामलों पर सुनवाई होगी।

साथ ही इससे पहले 6 जनवरी को EPFO से सम्बंधित दो जुड़े हुए 2 नए मामलों की सुनवाई करते हुए माननीय जस्टिस उदय उमेश ललित, माननीय जस्टिस एस रविंद्र भट्ट, माननीय जस्टिस ऋषिकेश राय की खंडपीठ ने फैसला देते हुए कहा कि इन सभी मामलों को भी WP नंबर 1658-8659/2019 के साथ मार्च के पहले सप्ताह में सूचीबद्ध किया जाए। उसके बाद इन मामलों को eps-95 पेंशनधारकों के अन्य मामले पहले से ही सुप्रीम कोर्ट में दाखिल है तो उन मामलों के साथ सूचीबद्ध किए जाने के लिए कहा गया था। और सुप्रीम कोर्ट की ऑफिशियल वेबसाइट पर इन मामलों के लिए 4 मार्च की तारीख सुनवाई के लिए दिखा रही है। हालांकि यह computer-generated तारीख थी तो इस पर बदलाव भी संभव था, और तीन जजों पीठ का गठन भी कर दिया गया था। पर 4 मार्च को इन मामलों पर सुनवाई नहीं हुई थी। 

अब ईपीएस 95 पेंशन के मामलो पर 2 अगस्त 2022 को Honorable Mr. Justice Uday Umesh Lalit, Honorable Mr. Justice S Ravindra Bhat, Honorable Mr. Justice Sudhanshu Dhulia, की खंडपीठ के समक्ष सुनवाई होने की उम्मीद है।

इससे पहले की सुनवाई में शीर्ष अदालत ने यानि 17 और 18 अगस्त 2021 की सुनवाई में EPFO के वरिष्ठ अधिवक्ता द्वारा पक्ष रखा गया था। उसके बाद EPS 95 पेंशनधारकों को के अधिवक्ता द्वारा EPFO की दलीलों को मात देने की लिए दलीले पेश होनी है और मामले को 24 अगस्त के लिए बाकि बची सुनवाई के लिए सूचिबद्ध कर दिया। उन्होंने तर्क दिया था कि उच्च न्यायालय के फैसले के अनुसार पेंशन में 50 गुना की वृद्धि होगी और वे पेंशनरों के अधीक्षण के दौरान राशि की वसूली नहीं कर सकते हैं।

जनवरी में न्यायमूर्ति यू यू ललित की अध्यक्षता वाली पीठ ने केवल सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को वापस ले लिया, जबकि उच्च न्यायालय के फैसले को रोक दिया गया था, यह अभी भी वैध है। इसके बाद, EPFO ने मामले पर तुरंत विचार करने का अनुरोध किया। न्यायमूर्ति यू यू ललित की अध्यक्षता वाली पीठ ने आश्वासन दिया कि मामले को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा और सुनवाई 23 मार्च से दैनिक आधार पर आयोजित की जाएगी ऐसा आदेश में कहा था।

देश के लाखों EPS 95 पेंशनर्स 2 अगस्त 2022 का दिन काफी महत्वपूर्ण है, क्यों की आज यानि 2 अगस्त 2022 को EPS 95 पेंशन से संबधित मामलों पर सुनवाई के होनी है। 23, 24, 25 मार्च की सुनवाई के लिए 59 याचिकाएं क्रमांक 15 न्यायालय संख्या 3 में सूचीबद्ध थी जो की  इन मामलों में से अब एक मामले की सुनवाई यानी SLP NO. 20,417/2017 जो की M/S Daiichi Sankyo Company Ltd बनाम OSKAR Investments Ltd इन मामलों पर सुनवाई हुई थी।

यह योजना कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) द्वारा प्रदान की जाती है और यह सुनिश्चित करती है कि कर्मचारी 58 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद पेंशन प्राप्त करें। मौजूदा, साथ ही नए ईपीएफ सदस्य, योजना का लाभ उठा सकते हैं।

सूत्रों के अनुसार, सरकार को आरएस 2,000 की न्यूनतम पेंशन को लागू करने पर 4500 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च वहन करना होगा और अगर इसे 3,000 रुपये तक बढ़ा दिया जाता है, तो सरकारी खजाने को बड़े पैमाने पर 14,595 करोड़ रुपये खर्च होंगे।





Source link
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.