मा. भूपेंदर यादव, श्रम व रोजगार मंत्री भारत सरकार ने की NAC के प्रतिनिधि मंडल से EPS 95 पेंशनर्स की मांगों के विषय पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई

1 0
Read Time:7 Minute, 58 Second

दिनांक -18 सितंबर 2022 को मा. भूपेंदर यादव, श्रम व रोजगार मंत्री भारत सरकार ने की NAC के प्रतिनिधि मंडल से EPS 95 पेंशनर्स की मांगों के विषय पैट विस्तार पूर्वक चर्चा हुई। EPS 95 पेंशनर्स की मांगों के मंजूरी के संदर्भ में मंत्री महोदय ने फिर से आश्वस्त किया।

समाचार विस्तार से:-

दिनांक 09 सितंबर 2022 को दिल्ली में NAC के प्रतिनिधि मंडल से चर्चा के दरम्यान माननीय श्रममंत्री जी ने बुलढाना आने की बात कही थी और उसी के अनुसार NAC के प्रतिनिधि मंडल को मंत्री जी के बुलढाना दौरे के दरम्यान विस्तार पूर्वक चर्चा का समय माननीय श्रममंत्री जी द्वारा दिया गया।

NAC चीफ कमांडर अशोक राऊत जी सहित सैकड़ों EPS 95 पेंशनर्स की मीटिंग स्थान पर उपस्थिति रही। माननीय श्रम मंत्री भारत सरकार के साथ राज्य सभा सदस्य मा. श्री अनिल बोंडे जी, महाराष्ट्र प्रदेश के उपाध्यक्ष, भूतपूर्व श्रममंत्री महाराष्ट्र शासन और विधायक डॉ. संजय जी कुटे, बीजेपी के बुलढाना जिले के जिला अध्यक्ष और खामगांव के विधायक एडवोकेट श्री आकाश फुंडकर जी, चिखली की विधायक श्रीमती श्वेता महले, बीजेपी नेता व पूर्व विधायक श्री चैनसुख संचेती जी की उपस्थिति भी रही।

NAC चीफ के साथ 31 सदस्यीय NAC प्रतिनिधि मंडल को चर्चा के लिए अनुमति प्रदान की गई थी लेकिन NAC चीफ के आग्रह पर,पेंशनर्स की उपस्थिति और विषय की गंभीरता को समझते हुए मीटिंग हॉल में मीटिंग संपन्न हुई। जितने सदस्य मीटिंग हॉल में बैठ सकते थे उन सभी को मीटिंग हॉल में बैठने की अनुमति मिली और सभी के सामने विशेष खुली चर्चा हुई।

चर्चा सत्र की शुरुआत कमांडर अशोक राऊत जी के भाषण से हुई जिसमें EPS 95 पेंशनर्स को अत्यंत कम पेंशन राशि मिलनेऔर मेडिकल सुविधा के अभाव में पेंशनर्स की बढ़ती हुई मृत्यु दर, वर्तमान में पेंशनर्स की दयनीय व मरणासन्न अवस्था, अन्य पेंशन योजनाओं से EPS 95 पेंशन की तुलना, NAC संगठन द्वारा किए गए आंदोलन, श्रम मंत्री/वित्त मंत्री व माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा दिए गए आश्वासन, वित्त सचिव जी के साथ त्रिपक्षीय चर्चा आदि का उल्लेख करते हुए संगठन की 4 सूत्रीय मांगों को अविलंब मंजूर कर पेंशनर्स को उनके हक प्रदान कर उन्हे आर्थिक दृष्टि से सक्षम बनाने का पेंशनर्स का पक्ष प्रभावी ढंग से माननीय मंत्री महोदय के समक्ष NAC चीफ ने रखा।

NAC चीफ द्वारा पेंशनर्स का पक्ष रखने के बाद राष्ट्रीय महासचिव श्री वीरेन्द्र सिंह राजावत ने कुछ विशेष तथ्यों का प्रमाण सहित प्रकटीकरण किया व देश के पेंशनर्स को सुरक्षित रखने की बात कही। इसी क्रम में महाराष्ट्र राज्य विद्युत मंडल से सेवा निवृत्त अधिकारी व RSS के भूतपूर्व जिला संघ चालक श्री महादेवराव भोजने जी ने उनका स्वयं का उदाहरण देते हुए पेंशनर्स का पक्ष रखा व EPS पेंशनर्स का मुद्दा एक महत्वपूर्ण, ज्वलंत मुद्दा होने के कारण व सभा में उपस्थित मंत्री महोदय के श्रम विभाग के मंत्री होने के कारण मंत्री महोदय से तुरंत निर्णय लेने की अपील की।

इसके बाद केंद्रीय श्रममंत्री जी का उद्बोधन हुआ।

माननीय केंद्रीय मंत्री श्री भूपेंदर यादव जी ने अपने संक्षिप्त भाषण में सरकार द्वारा मिनिमम को बढ़ाकर रु।1000 करने व इस मिनिमम पेंशन देने हेतु सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान करने की बात कहते हुए अंत में उन्होंने कहा कि – हम आपका काम कर रहे हैं।सरकार इस विषय पर गंभीर है। कुछ रिपोर्ट्स आना बाकी है। इस पर प्रक्रिया शुरू है व कुछ बातें सार्वजनिक तौर पर नहीं बताई जा सकती हैं।

माननीय श्रममंत्री जी के उपरोक्त वक्तव्य के बाद NAC चीफ के निर्देशन पर NAC के राष्ट्रीय महासचिव ने माननीय श्रममंत्री जी से फिर से अपनी बात को रखने की अनुमति मांगी व तुरंत अनुमति मिलने पर EPS पेंशनर्स का पक्ष रखा –

रु. 1000 मिनिमम पेंशन का सत्य, ईपीएफओ द्वारा पेंशन वृद्धि पर आनाकानी,CBT सदस्यों की भूमिका व NAC द्वारा सादर किए गए डॉक्यूमेंटेशन के अनुसार मिनिमम पेंशन रु।7500+DA की व्यवहार्यता संभव है आदि मुद्दों पर सत्य व तथ्य सामने रखे। जिसपर माननीय केंद्रीय मंत्री महोदय ने हल्की सी मुस्कान के साथ सहमति दर्शाई।

यह मीटिंग 45 मिनट तक चली।

NAC के राष्ट्रीय मुख्य सलाहकार डॉ। पी एन पाटील, बुलढाना मुख्यालय के मुख्य समन्वयक श्री विलास पाटिल, मुख्यालय के कोषाध्यक्ष श्री बी एस नारखेड़े, राष्ट्रीय न्यायिक सलाहकार ॲड। श्री गणेश एकडे, विदर्भ के सचिव श्री सतीश देशमुख, बुलढाना के जिला अध्यक्ष श्री रामेश्वर शेडगे व श्री प्रकाश मिरगे, कुछ तहसीलों के नेता गण, इंजी। रमेश डोंगरकर, श्री बी जी वाळके, श्री एस के समिंदर आदि उपस्थित रहे।

महिला फ्रंट की राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती शोभा आरस, पश्चिम भारत की संगठन सचिव सौ। सरिता नारखेड़े, सौ।मीना सिंह, सौ। इंदुताई राणे आदि की भी उपस्थित रही। महाराष्ट्र राज्य के व जिले के मीटिंग में उपस्थित बीजेपी नेताओं द्वारा हमारी मांगों का  समर्थन करने हेतु उनका विशेष आभार।

NAC खामगांव की टीम को शत शत नमन।

विशेष सूचना:- सभी सदस्यों को सादर सूचित किया जाता है कि जब तक हमारी 4 सूत्रीय मांगे मंजूर नहीं होती हैं तब तक NAC मुख्यालय बुलढाणा का क्रमिक अनशन जारी रहेगा।






Source link
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
100 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.