FACT CHECK | SUPREME COURT RULED IN FAVOUR OF PENSIONERS

Uncategorized

EPS 95 HIGHER PENSION NEWS | EPS 95 LATEST NEWS | EPS 95 MINIMUM PENSION HIKE

हाल ही में सोसिअल मीडिया पर ईपीएस 95 पेंशनधारकों के हक़ में फैसला दिया गया है ऐसा एक मैसेज वायरल हो रहा है। तो आज इस आर्टिकल में इसी मेसेज के बारे में बताने जा रहे है। यह जो मेसेज सोसिअल मीडिया पर वायरल हो रहा है ओ इस तरह का है…. 

1995 के पेंशन मामले में, सुप्रीम कोर्ट ने पेंशनरों के पक्ष में फैसला सुनाया। तदनुसार, बकाया के साथ पेंशन में वृद्धि की उम्मीद है। इस निर्णय के तहत, मुख्य पी.एफ. आयुक्त ने सभी राज्य पीएफ आयुक्तों को आदेशों को लागू करने के लिए लिखा है।

जल्द ही आपको एरियर के साथ भारी पेंशन मिलेगी। उन लोगों का लाखों-करोड़ों धन्यवाद बढ़ाए गए हैं जिन्होंने इस मामले का कठोरता से और सफलतापूर्वक सुप्रीम कोर्ट तक पीछा किया है। कर्मचारी, पेंशनर, सेवानिवृत्त पेंशनर्स एसोसिएशन कृपया संदेश को अग्रेषित करें और उन लोगों / संगठनों का धन्यवाद करें जिन्होंने लड़ाई लड़ी।

भोपाल के एक समाचार पत्र के अनुसार, न्यूनतम लागू पेंशन रु. 8,500 / – अधिकतम रु. 25,000 / – वितरित किया जाएगा। 

इस मेसेज की जाँच करने के बाद मैं सभी ईपीएस 95 पेंशनधारकों को इसकी सच्चाई बताने जा रहा हु। जैसा की हम जानते है की से सुप्रीम कोर्ट का कामकाज वर्चुअल माध्यम से हो रहा था और सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार 11 अगस्त को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा केरल,
राजस्थान और दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसलों को चुनौती देने वाली अपीलों पर
फैसला सुरक्षित रख लिया, जिन्होंने कर्मचारी पेंशन (संशोधन) योजना, 2014
को रद्द कर दिया था। जस्टिस उदय उमेश ललित, अनिरुद्ध बोस और सुधांशु धूलिया की 3 जजों की बेंच ने 6 दिनों की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है। 

ऐसे में यह जो मेसेज वायरल हो रहा है, ऐसे में सभी EPS 95 पेंशनधारकों के मन भ्रम पैदा हो सकता है की सुप्रीम कोर्ट में ईपीएस 95 पेंशनधारकों से सम्बंधित याचिका पर सुनवाई पूरी होने के बाद सर्वोच्च न्यायलय ने अंतिम फैसला दे दिया हो और अभी उनको बढ़ी हुई पेंशन मिलनी शुरू हो जाएगी पर ऐसा नहीं है क्यों की EPFO द्वारा जो पुनर्विचार याचिका और यूनियन ऑफ़ इण्डिया द्वारा जो SLP सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की उनपर सुनवाई के बाद जस्टिस उदय उमेश ललित, अनिरुद्ध बोस और सुधांशु धूलिया की 3 जजों की बेंच ने 6 दिनों की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है। 

इस लिए सभी ईपीएस 95 पेंशनधारकों को अवगत करना चाहता हु की यह एक पुराना मेसेज है जो अभी अगस्त 2022 फैलाया जा रहा है।  अगर आपके पास भी ऐसा कोई मेसेज आता है तो कृपया उसे आगे न भेजे क्यों की यहाँ भ्रम फैला रहा है। 

सभी ईपीएस 95 पेंशनधारकों तक इस आर्टिकल को शेयर करे ताकी इस मैसेज की सच्चाई सभी को पता चल सके।  

जैसे ही ईपीएस 95 पेंशनधारकों की याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट से कोई उपडेट आएगा तो उसे सभी के साथ सांझा कर दिया जाएगा। 


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *